Report on Convention 2018 for FAIC News
हमारा तीसराकन्वेन्शनऔर एक्जीबिशन दि. 21 से 23 अगस्त, 2018 को जयपुर के JECC में शानदार तरीके से आयोजित हुआ।

अधिवेशन में भारत के 3,000 से ज्यादा केटरर भाई की एवम् प्रदर्शनी में 500 से ज्यादा व्यापारियों की उपस्थिति रही।देश के भिन्न भिन्न हिस्सों से पधारे मेम्बर्स की रजिस्ट्रेशन का कार्य सुबह 8 बजे से शुरू कर दिया गया था। राज्यवार रजिस्ट्रेशन काउंटर खोले गये थे जिस से सभी को सहूलियत रहें। स्पोट रजिस्ट्रेशन के लिए भी अलग से काउंटर खोले गये थे।

दि. 21 अगस्त को अधिवेशन का भव्य उद्घाटन राष्ट्र-गान के बाद सुप्रसिद्ध फिल्मी व टीवीकलाकार करिश्मा तन्ना, प्रायोजक अदाणी विल्मर के श्री परेश पाठक जी और सह-प्रायोजक सेलो कंपनी के श्री गौरव राठोड जी, विख्यात सेफ प्रियंका मलीक और रिपु दमन हांडा और FAIC के सभी बोर्ड मेम्बर्स के हाथों दीप-प्रज्वलन से हुआ। बोर्ड मेम्बर श्री मनीष ठक्कर जी ने उपस्थित सभी का शब्द-सुमन से स्वागत किया और मंचस्थ सभी मेहमानों का स्वागत बोर्ड मेम्बर्स ने व बोर्ड मेम्बर्स का स्वागत भारत भर से पधारें भिन्न भिन्न प्रांत के केटरर्स भाई में से उनके प्रतिनिधि ने मोती की माला, पुष्प-गुच्छ और सुन्दर ममेन्टो से किया।

इस मौके पर केटरिंग के व्यवसाय को अपना बहुमूल्य योगदान और पहचान देनेवाले वरिष्ठ केटरर श्रीमान ज्ञानचन्द जी जैन (ज्ञानजी केटरर्स, जयपुर), श्रीमान ताराचन्द जी जैन (स्वीट केटरर्स, जयपुर), श्रीमान रामदयाल जी सोंखिया (महाराजा केटरर्स, जयपुर) और श्रीमान कमलचन्द जी का सम्मान बोर्ड मेम्बर्स द्वारा किया गया।

FAIC के अध्यक्ष श्री नरेन्द्र सोमाणी जी ने सभा को संबोधित किया जिसके बाद हमारी मुख्य मेहमान फिल्म तारिका करिश्मा जी ने और फिर FAIC के मा. मंत्री श्री किरीट बुद्धदेव जी ने सब को संबोधित किया। किरीटजी ने FAIC के स्थापना दिन 23 सितम्बर को हर साल “कैटरिंग-डे” के रूप में मनाने का सुझाव रखा जिसे बोर्ड एवं सभा ने सहमति दी। उपाध्यक्ष श्री योगेश चन्दाराणा जी और मेहमान प्रियंका मलीक जी ने भी सभी का स्वागत और प्रोत्साहन कियाऔर केटरिंग व्यवसाय के उपयुक्त बातें बताई।

अधिवेशन एवंFAIC के वेस्ट-ज़ोन के चेयरमैन श्री सुनिल सोंखिया जी ने अपने विचार व्यक्त किए और अंत में FAIC के संगठन मंत्री एवंसूवनिर चेयरमैन श्री दीपक संघवी जी ने सब का आभार प्रदर्शित किया।

दोपहर के सेशन में मोटीवेशनल लीडर श्री पवन अग्रवाल जी ने मुंबई के डब्बावालो (टीफ़ीनवाले) की डब्बा-वितरण प्रणाली पर बेहतरीन प्रवचन दिया। पवन जी ने जब इन अल्प-शिक्षित डब्बावालो द्वारा सिस्टम में लागू ओक्ष्फॉर्ड कक्षा के मेनेजमेंट के सिद्धांतों का खुलासा किया तब सब लोग दंग रह गए।

हमारे मुख्य प्रायोजक अदानी-विल्मर की ऑडियो-विज़ुअल प्रस्तुति दर्शकों के लिए बहुत ही जानकारी पूर्ण बनी रही और इनके अनेक क्षेत्रों में विस्तरित उत्पादनों के बारे में जानकारी मिली।

प्रसिद्ध शेफ रिपु दमन हांडा और शिवानी महेता का लाइव खाना पकाने का कार्यक्रम बहुत आकर्षक रहा और लोगों ने इसे पूरी तरह से आनंद लिया।

रात के ग्रांड गाला डीनर के बाद सब से पहले हमारे सह-प्रायोजक कंपनियां ‘नमन’ और ‘केच मसाला’ का प्रतिपादन हुआ।

बाद में रॉडनी और उनकी टीम द्वारा मनोरंजक संगीत कार्यक्रम ने दर्शकों को पागल बना दिया और पूरे ऑडिटोरियम को डांस फ्लोर में परिवर्तित कर दिया गया। सभी उम्र के लोग देर रात तक रॉडनी के साथ खुशी में झूमते और नाचते रहे।

दूसरे दिन,सुबह के सेशन में जाने मानेसाहित्यकार डॉ. रईस मणियार जी का वक्तव्य था। उन्होंने केटरिंग व्यवसाय को लोकप्रिय, सुदृढ़ और लाभदायक बनाने के लिए अपने ‘9 डाइमंड थीअरी’ से जरूरी पहलुओं पर हल्की-फुल्की शैली में बखूबी समझाया। एक घंटे के सत्र में उन्होंने सभी श्रोताओं को अपनी सीटोपर जकड़ के रखा।

इसके बाद, राष्ट्र के चुनिंदा सफल और ज्ञात केटरर्स के बीच एक “टॉक शो” आयोजित किया गया था।“केटरिंग व्यवसाय में अवसर और चुनौतियां” इस विषय के “टॉक शो” में FAIC के अध्यक्ष एवं TGBहोटल्स और बेंक्वेट्स-अहमदाबाद के श्रीमान नरेन्द्र सोमाणी जी, गायत्रीविहार-बेंगालुरू के श्रीमान पंकज कोठारी जी, निमंत्रण केटरर्स-हैदराबाद के श्रीमान प्रदीप जाडेजा जी, जैन केटरर्स-मुंबई के श्रीमान ललित जैन जी, दिल्ली के श्रीमान पंडित रामनिवास बागमल जी और ईच्छामणीकेटरर्स-नासिक के श्रीमान सागर गाढवे जी शामिल हुए। निखिल केटरर्स-मुंबई के श्रीमान निखिल टिपणीस जी ने इस”टॉक शो” का संचालन किया।”टॉक शो” बहुत ही ज्ञानप्रद और सटीक रहा जिस से हाजिर सभी लोगों ने बहुत सारी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त की और इस दिग्गज केटरर्स से उनके अनुभव का अमृत पाया।

दोपहर के दूसरे सत्र में सब से पहले “केक क्राफ्ट” कोम्पीटीशन का आयोजन किया गया जिस में कई प्रतियोगी ने भाग लिया।

बाद में,शेफ रिपु दमन हांडा और शिवानी महेता का लाइव खाना पकाने का कार्यक्रम दूसरे दिन भी हुआ और उतना ही लोकप्रिय रहा जितना अगले दिन रहा।एक नई रेसिपि को लोगों ने सराहा और देखने के साथ चखने का भी आनन्द उठाया।

इस बाद हमारे सह-प्रायोजक अतुल ओटो और अमुल कंपनी का प्रेज़न्टेशन हुआ जिस में अतुल ओटो की यातायात के उत्पादनों की जानकारी और अमुल के दूध, मक्खन, पनीर, चीझ, आइसक्रीम, चॉकलेट और ऐसे बहुत से उत्पादनों की जानकारी सभी को मिली।

शाम के सत्र में गुजरात की जानी-मानी रेडियो जॉकी और अभिनेत्री RJ देवकी का “ए भाई जरा देख के चलो”विषय पर मनभावन वक्तव्य आयोजित हुआ। देवकी जी ने केटरिंग व्यवसाय से संलग्न वैसे पहलुओं पर अपनी विशेष कमेंट्स दी जो हर व्यवसायी के लिए उपयुक्त है। उन्होंने सब को खुद में ही हीरो ढूंढने और उस हीरो के फन को बरकरार रखने की बातबताई।

रात के ग्रांड गाला डीनर के बाद सब से पहले हमारे सह-प्रायोजक कंपनियां ‘वाह मझा’ और ‘मेड एक्वा’ का प्रतिपादन हुआ।

उसके बाद सूफी संगीत के सम्राट भाविन शास्त्री जी का संगीत-समारोह हुआ।भाविन शास्त्री जी की भावुक आवाज़ ने दर्शकों कोमंत्रमुग्ध कर दिया।दर्शकों में से कोई भी देर रात तक ऑडिटोरियम छोड़ने के लिए तैयार नहीं था।भाविन जी ने श्रोताओं की भावनाओं को पारस्परिक रूप से पारित किया और देर रात तक श्रोताओं की पसंद के अनुसार विभिन्न शैली के गीत गा कर महफिल में चार चाँद लगा दीये।

तीसरे और आखिरी दिन, सब से पहले,इस भव्य-समारोह के परदे के पीछे के सभी महानायकों का सम्मान कार्यक्रम आयोजित हुआ।उसमें, सबसे पहले, सभी राज्यों के सभी कोर कमेटी सदस्यों को सम्मानित किया गया। फिर, इस समारोह को विविध सेवाएं उपलब्ध कराने और उसे सुचारु रूप से निष्पादन करने वाले सभी लोगों को भी सम्मानित किया गया। साथ ही FAIC की मुंबई और राजकोट ऑफिस में दिन रात काम करने वाले सभी लोगों का भी सम्मान किया गया।

अंत में एक लक्की ड्रॉ का आयोजन हुआ जो की पूर्व-घोषित था और उन मेम्बर्स के लिए था जिसने रजिस्ट्रेशन करा के अपना ड्रॉ-कूपन ड्रॉ के कंटेनर में डाले थे औरड्रॉ के समय स्थल पर उपस्थित रहे हो।सब मिलाके 51विभिन्न इनामों की घोषणा की गई थी, जिसमें कई घरेलू उपकरण जैसे की टॉस्टर, मीक्षर, सेंडविच-मेकर, ऑवन, वोटर-कूलर, फ्रीज़, वॉशिंग मशीन, होम-थीएटर, टीवी, लेपटॉप, आदि और होंडा एक्टीवा और मारूती अल्टो गाड़ी जैसे इनाम रखे गये थे जो की भारत भर से पधारे केटरर्स को मिले।मारूतीअल्टो का पहला इनाम आर.वी. केटरर्स-अहमदाबाद के श्री रमेशकुमार वर्मा ने जीता।

इन तीनों दिनों के सुबह–दोपहर-रात के भोजन के लिएविभिन्न केटरर्स द्वारा उनके संबंधित क्षेत्र से व्यवस्था कि गईथी। FAIC के अध्यक्ष श्री नरेन्द्रभाईसोमाणी जी निगरानी में इस पूरी व्यवस्था गुजरात से श्री गोरधनमहारज जी,श्री परेशभाईदेसाई, जयपुर से श्री सुनिलसोंखियाजी श्री संजीव जैन जी, श्री अतुल जैनजी एवं महाराष्ट्र से श्री उत्तमरावगाढवे जी ने उत्कृष्ट तरीके से संभाली।भोजन में किस्मों की एक बड़ीश्रृंखला थी और इन सभी भोजन के मेन्यू में कोई भी व्यंजन दोहराया नहीं गया था।

इन तीन दिनों के दौरान प्रदर्शनी में मुलाकाती काआवागमन उत्कृष्ट रहा। देश के विभिन्न हिस्सों से 500 से अधिक प्रदर्शक थे जिन्होंने खानपान के व्यवसाय के साथ संलग्न अपने उत्पादों का प्रदर्शन किया। इस कार्यक्रम के लिए प्रदर्शकों की समीक्षा बहुत प्रेरणादायक थी और उन्होंने इसे अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनीके समान रेटिंग दी।

निष्कर्ष में, FAIC का तीसरा सम्मेलन और प्रदर्शनी बहुत सफल रही और एक इंफोर्मेटीव लेकिन मनोरंजन कार्यक्रम प्रदान करने के अपने लक्ष्य को प्राप्त किया।